डाक सूची के सदस्य बनें
हम ने आप के लिये चयन किया है
लोगों ने अल्लाह के स्वच्छ धर्म में जो चीज़ें गढ़ ली हैं उन में से एक पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के जन्म दिवस के अवसर पर बड़े धूम-धाम से जश्न मनाना और समारोह आयोजित करना है।
इस औडियो में इस परंपरा का खुलासा किया गया है, उसकी वास्तविकता को उजागर करते हुए उसे अनाधार और धार्मिक दृष्टिकोण से अवैध घोषित किया गया है. तथा पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की संछिप्त जीवनी, गैर मुस्लिमों की दृष्टि में आप की महानता, पद और स्थान, आप की आज्ञाकारिता की अनिवार्यता़ का उल्लेख करते हुए, जीवन के सभी छेत्रों आप का अनुसरण करने पर विशेष बल दिया गया है।
इसमें कोई शक नहीं कि तौहीद (एकेश्वरवाद) इस्लाम धर्म में सबसे महत्वपूर्ण व प्रमुख मुद्दा है, बल्कि यही वह महान मुद्दा है जिसके कारण अल्लाह ससर्वशक्तिमान ने मनुष्य व जिन्नात की रचना की और उसी की ओर आमंत्रित करने के लिए सभी सन्देष्टाओं को भेजा। इसी तरह तौहीद परलोक के दिन जहन्नम में सदैव रहने से बचाव के लिए गारंटी, और स्वर्ग में प्रवेश करने के लिए सबसे बड़ा कारण है। यही नहीं बल्कि वह इस्लाम और नास्तिकता के बीच अंतर करनेवाला ; और जिसने इस तौहीद का कलिमा पढ़ लिया उसके खून, उसके सतीत्व और उसके धन की रक्षा करनेवाला है। प्रस्तुत व्याख्यान में, एकेश्वरवाद की महानता, इसके महत्व व प्रतिष्ठा के कुछ पहलुओं का वर्णन किया गया है।
सच्चा धर्म : सत्य धर्म के खोजी के लिए एक लाभदायक संक्षिप्त पुस्तिका, जिसमें इस्लाम धर्म का एक संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत करते हुए यह स्पष्ट किया गया है कि इस्लाम ही वह धर्म है जिसके अतिरिक्त अल्लाह सर्वशक्तिमान कोई अन्य धर्म स्वीकार नहीं करेगा। इसी तरह इसमें अन्य धर्मों और सिद्धांतों की समीक्षा करते हुए उनकी शून्यता को स्पष्ट किया गया है। इसके अलावा, ईसा और उनकी माँ – अलैहिमस्सलाम - की वास्तविकता, इस्लामी धर्म की सार्वभौमिकता और इन्सान व जिन्नात की रचना का उद्देश्य उल्लेख किया गया है।
हर साल १४ फरवरी को वैलेंटाइन्स दिवस या प्रेमियों का त्योहार या "संत वेलेंटाइन दिवस" मनाना युवा मुसलमानों के बीच बड़े पैमाने पर एक व्यापक घटना बन गया है। प्रस्तुत वीडियो में, इस अधार्मिक परंपरा की बुराई, इसकी उत्पत्ति, उसके इतिहास, उसके बारे में इस्लाम के दृष्टिकोण, समाज पर उसके बुरे प्रभावों और गंभीर खतरों का खुलासा किया गया है। इसी तरह युवाओं और युवतियों के बीच मिश्रण, प्रेम प्रसंग और अवैध संबंध की बुराइयों और उनके दूरगामी दुष्ट परिणामों से सावधान किया गया है।
क्या अगर कोई लड़की किसी लड़के से दूर से प्यार करती है, तो उसने पाप किया है ?
वेलेंटाइन दिवस (प्यार का त्योहार) मनाने के विषय में शैख इब्ने उसैमीन रहिमहुल्लाह का स्वयं उनके हाथ का लिखा हुआ फत्वा जिस में उन्हों ने मुसलमानों को गैर मुस्लिमों की छवि अपनाने से सावधान किया है।
वेलेंटाइन दिवस (प्यार का त्योहार) मनाने का क्या हुक्म है ?
वेलेंटाइन्स-डे की वास्तविकता और उसके विषय में इस्लामी दृष्टि कोण : हर वर्ष 14 फरवरी को विश्व भर मे धूम धाम से वेलेंटाइन्स-डे मनाया जाता है, किन्तु इसकी वास्तविकता क्या है और इस के विषय में इस्लामी दृष्टि कोण क्या है और एक मुसलमान के लिये इस को मनाना कैसा है, इस लेख में इन्हीं तत्वों को स्पष्ट किया गया है.
इस पुस्तिका में अल्लाह की तौहीद (एकेश्वरवाद) के उस संयुक्त संदेश का उल्लेख किया गया है जिस के साथ आदम –अलैहिस्सलाम- से लेकर मुहम्मद -सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम- तक सभी ईश्दूत और सन्देष्टा भेजे गये। तथा आज यहूदियों और ईसाईयों के हाथों में मौजूद बाइबल (ओल्ड टैस्टामेंट एंव नया टैस्टामेंट) के हवालों से अल्लाह के एकेश्वरवाद को प्रमाण-सिद्ध किया गया है।
इस्लाम ही एकमात्र धर्म है जिसे अल्लाह तआला ने सर्व मानवजाति के लिए चयन किया है, जिसके अतिरिक्त कोई अन्य धर्म अल्लाह के निकट मान्य नहीं है। तथा इस्लाम ही एकमात्र धर्म है जो हमारी आज की दुनिया की समस्त समस्याओं का समाधान पेश करता है और उसके निर्देशों का पालन करके और उन्हें व्यवहार में लाकर मानवता समस्यारहित जीवन का अनुभव कर सकती है। इस पुस्तक में इस्लाम के अनन्त संदेश, उसकी विशेषताओं और गुणों, तथा जीवन के सभी छेत्रों में उसकी शिक्षाओं, मार्गदर्शनों और निर्देशों का उल्लेख किया गया है।
नवीनतम वृद्धि ( हिन्दी )
आडियो
( हिन्दी )
2014-04-24
का इस्लामी तरीक़ा : इसमें कोई संदेह नहीं कि मतभेद का पैदा होना स्वभाविक है, और जीवन में ऐसा होता रहता है। वर्तमान समय में तो, धर्म से अनभिज्ञता या उससे दूरी के कारण, इसका ग्राफ़ बढ़ गया है। प्रस्तुत व्याख्यान में मतभेद को हल करने और विवाद को सुलझाने के इस्लामिक तरीक़ा पर प्रकाश डाला गया है, और वह तरीक़ा यह है कि हर छोटे-बड़े मतभेद में क़ुरआन और सुन्नत की ओर पलटा जाए, और उसे सुलझाने में पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के निर्देश़, मार्गदर्शन और आपके सहाबा रज़ियल्लाहु अन्हुम के तरीक़े का अनुसरण किया जाए।
आडियो
( हिन्दी )
2014-04-23
होतीं : इस्लाम एक सार्वभौमिक और शाश्वत धर्म है : इस्लाम अल्लाह का अंतिम धर्म है, जो अंतिम सन्देष्टा मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के इस धर्म को लाने के समय से लेकर परलोक के दिन तक, सभी लोगों के लिए एक सर्वसामान्य धर्म है। अतः मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के बाद कोई ईश्दूत और सन्देष्टा नहीं, तथा इस्लाम के बाद कोई अन्य धर्म और सन्देश नहीं। सो इसलाम किसी विशेष जनजाति या गोत्र के लिए नहीं है, और न ही किसी एक विशेष स्थान या निर्धारित समय के लिए है। बल्कि हर समय और पर स्थान पर सभी लोगों के लिए एक सर्वसामान्य है। धर्म के रूप में इस्लाम नहीं है. इस व्याख्यान में इसी का वर्णन किया
आडियो
( हिन्दी )
2014-04-22
होतीं : अल्लाह ने अपने बन्दों दुआ करने का आदेश दिया है और उनसे वादा किया है कि उनकी दुआयें क़बूल करेगा। लेकिन हम में से बहुत सारे लोग शिकायत करते हैं कि हमने बहुत दुआ की, पर हमारी दुआ क़बूल नहीं हुई! सो प्रस्तुत व्याख्यान में कुछ उन कारणों का उल्लेख किया गया है जो दुआ की स्वीकृति में रुकावट बनती हैं, जैसे- हराम खान-पान, भलाई का आदेश देने व बुराई से रोकने के कर्तव्य का त्याग, दुआ के क़बूल होने में विश्वास की कमी, सुदृढ़ता के साथ दुआ न करना, पाप करना, इसी तरह इसका कारण यह भी हो सकता है अल्लाह के तत्वदर्शिता में यह हो कि दुआ करनेवाले आदमी की विशिष्ट मांग को पूरी न करने में ही भलाई हो।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-15
क़ारी हसन मुहम्मद सालेह का नाफे के माध्यम से वर्श की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-15
क़ारी यासीन अलजेरियाई का नाफे के माध्यम से वर्श की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-15
क़ारी अब्दुल अली बिन अत्ताहिर आनून का नाफे के माध्यम से वर्श की रिवायत के साथ अल-अज़रक़ के तरीक़ से मद्दे-बदल के क़स्र के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-14
क़ारी मिफ्ताह मुहम्मद यूनुस अस्सल्तनी का याक़ूब हज़रमी के माध्यम से रुह की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-14
क़ारी मिफताह मुहम्मद यूनुस अस्सल्तनी का याक़ूब हज़रमी के माध्यम से रुवैस की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-14
क़ारी रशीद बिल-आलिया का नाफे के माध्यम से वर्श की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
क़ुर्आन करीम
( हिन्दी )
2014-04-14
क़ारी महमूद मुहम्मद रशाद अश्शैमी का आसिम के माध्यम से शोअबा की रिवायत के साथ क़ुरआन करीम का मुरत्तल (तर्तील के साथ) पाठ, जो उच्च गुणवत्ता वाले ऑडियो प्रौद्योगिकी [एमपी 3 128 केबी] के साथ विशिष्ट है।
Go to the Top